ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
1402 लघु सिंचाई परियोजना पूर्ण

MPNEWSLIVE : 04 जनवरी, 2014
भोपाल।।  मध्यप्रदेश में बीते पाँच साल में 1402 लघु सिंचाई परियोजना पूरी की गई हैं। कुल 6,662 करोड़ लागत की इन परियोजनाओं से 4 लाख 83 हजार 424 हेक्टेयर में सिंचाई सुविधा उपलब्ध हुई है।    

जून तक होगी अधूरी योजनाएं पूर्ण :

      वित्त एवं जल संसाधन मंत्री जयंत मलैया ने यह जानकारी देते हुए बताया कि फिलहाल प्रदेश में 701 लघु सिंचाई परियोजना का निर्माण कार्य चल रहा है। इनमें से 100 परियोजना आगामी 100 दिन में पूरी कर ली जायेंगी। कुल 701 निर्माणाधीन लघु सिंचाई योजनाओं में से 300 जून 2014 तक पूरी कर ली जायेंगी। मलैया ने बताया कि वर्ष 2010 के रबी मौसम में सिर्फ 9 लाख हेक्टेयर में सिंचाई होती थी। इसे 2011 में बढ़ाकर 16 लाख 35 हजार और 2012 में 20 लाख 21 हजार हेक्टेयर किया गया। इस रबी में 23 लाख हेक्टेयर से अधिक में सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो जायेगी।

40 लाख हेक्‍टेयर सिंचाई सुविधाएं मुहैया कराई जायेगी :

        जल संसाधन मंत्री ने कहा कि आगामी पाँच साल में 40 लाख हेक्टेयर में सिंचाई सुविधा मुहैया करवाने के लक्ष्य को पाने के लिये सुनियोजित प्रयास किये जा रहे हैं। बालाघाट जिले में बेनगंगा परियोजना में केनाल लाइनिंग का काम शुरू कर दिया गया है। राजगढ़ जिले की मोहनपुर योजना का काम आगामी 100 दिन में शुरू हो जायेगा। टीकमगढ़ जिले की बानसुजरा परियोजना पर भी काम शुरू हो गया है। इन परियोजनाओं में स्प्रिंकलर आधारित सूक्ष्म सिंचाई क्षेत्र को बढ़ाया जायेगा। इसी तरह रीवा के बाणसागर में त्योंथर फ्लो परियोजना पर काम शुरू किया गया है, जिससे 40 हजार हेक्टेयर में सिंचाई सुविधा उपलब्ध होगी। राजगढ़ की कुंडलिया परियोजना का काम हाथ में लिया जा रहा है। देवास की दतुनी परियोजना मंजूर की गई है। धार में उरीबाग, पन्ना में रूँझ, मिडासान, पवई तथा मझगाँव परियोजनाएँ भी स्वीकृत की गई हैं। सागर में 60 हजार हेक्टेयर सिंचाई क्षमता वाली बीना परियोजना तथा दमोह में 15 हजार हेक्टेयर क्षमता की पंचमनगर परियोजना को भी मंजूरी दी गई है।

नहरों का कार्य जारी :

     जल संसाधन मंत्री के अनुसार विदिशा-गंजबासौदा में संजयसागर बाह्य, सगड़, बघर्रु तथा राजगढ़ में कुशलपुर मध्यम परियोजना पूरी की गई है। बालाघाट जिले में बावनथड़ी (राजीव सागर), छतरपुर जिले में बरियापुर तथा धार जिले में माही परियोजना का बाँध कार्य पूरा किया गया है। इनकी नहरों का काम जारी है।


 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com