ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
एसिड हमलों के मामलों में उच्चतम न्यायालय के निर्देशों का पालन करें

MPNEWSLIVE : 07 फरवरी, 2014
भोपाल।। राज्य सरकार ने एसिड के हमले की घटनाओं पर कारगर नियंत्रण के लिए सभी कलेक्टरों और कमिश्नरों और पुलिस अधीक्षकों को विस्तृत निर्देश भेजे हैं। महिलाओं की सुरक्षा एवं उनके उत्थान के लिए संकल्पित राज्य सरकार द्वारा पूर्व में भी इस तरह के निर्देश सभी जिलों को भेजे जा चुके हैं। उच्चतम न्यायालय द्वारा दिए गए आदेश के परिपालन में राज्य सरकार ने पुन: निर्देश भेजे हैं। उल्लेखनीय है कि उच्चतम न्यायालय ने एक प्रकरण में पारित आदेश में लायसेंस धारी एसिड विक्रेताओं द्वारा विक्रय पंजी संधारित करने के आदेश दिए हैं। शिक्षण संस्थाओं, रिसर्च लेबोरेटरी, अस्पताल, सार्वजनिक उपक्रम आदि द्वारा एसिड रखने एवं उसका संग्रहण करने पर भी पंजी संधारित करने की अनिवार्यता होगी। उच्चतम न्यायालय के निर्देशों में एसिड हमले से पीड़ित व्यक्ति को इलाज एवं मुआवजे के रूप में तीन लाख की राशि प्रदान करने के निर्देश भी शामिल हैं।

         राज्य सरकार ने अनुविभागीय अधिकारी को निर्देशों का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों के खिलाफ कार्यवाही के लिए उत्तरदायी बनाया है। विष अधिनियम वर्ष 1919 संपूर्ण देश में प्रभावशील है। इसमें सभी प्रकार के विष और एसिड शामिल हैं जो मानव शरीर के लिए घातक होते हैं। अधिनियम के अंतर्गत मध्यप्रदेश शासन के विष (मध्यप्रदेश) नियम 1960 को प्रदेश में प्रभावशील किया गया है। इसमें एसिड के विभिन्न प्रकार उल्लेखित हैं। लायसेंसधारी विक्रेता को विष के विक्रय के लिए विस्तृत जानकारियाँ रजिस्टर में अंकित कर हस्ताक्षर करना आवश्यक है। राज्य सरकार ने विष अधिनियम 1919 एवं मध्यप्रदेश विष अधिनियम 1960, विष (संशोधन ) 1981 के प्रावधान का पूर्णत: पालन करवाने के निर्देश सभी विभागाध्यक्ष और सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को भी दिए हैं। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा भेजे गए विस्तृत निर्देश वेब साइट http://www.health.mp.gov.in/ पर भी अपलोड कर दिए गए हैं। सभी संबंधित को सभी आदेश, विधि प्रावधान, नियमों एवं निर्देशों का भलीभांति अध्ययन कर इनसे अपने अधीनस्थ को भी अवगत करवाने को कहा गया है।


 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com