ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
भोपाल मेमोरियल हॉस्पिटल को पी.जी.इंस्टीट्यूट के रूप में करें विकसित : मुख्यमंत्री चौहान

MPNEWSLIVE : 17 जून , 2014 

भोपाल ।।  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि भोपाल मेमोरियल हॉस्पिटल और रिसर्च सेंटर को पी.जी. इंस्टीट्यूट के रूप में विकसित करें तथा इसके प्रबंधन में सुधार किया जाये। हमीदिया चिकित्सालय के नये भवन निर्माण में केन्द्र सरकार सहयोग करे। मुख्यमंत्री चौहान ने यह बात आज यहाँ केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के साथ बैठक में कही। केन्द्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि केन्द्र सरकार इसमें सहयोग करेगी। इसके लिये प्रस्ताव बनाकर केन्द्र को भेजें। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने मुख्यमंत्री  चौहान से चर्चा के दौरान एम्स भोपाल परिसर में रीजनल इन्स्टीटयूट ऑफ पैरामेडिकल सांइसेस के लिये 150 करोड़ रुपये मंजूर करने की सहमति प्रदान की। बैठक में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा और स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री शरद जैन भी उपस्थित थे।

          मुख्यमंत्री  चौहान ने कहा कि प्रदेश में मेडिकल कॉलेजों में सीट्स की संख्या बढ़ाई जाये। केन्द्र द्वारा स्वीकृत विदिशा, शहडोल और सागर के मेडिकल कॉलेज के लिये स्वीकृत राशि शीघ्र दिलवायी जाये। केन्द्र की योजना में जिला अस्पताल को ही मेडिकल कॉलेज से संलग्न अस्पताल के रूप में विकसित करने की शर्त से छूट देने पर विचार किया जाये। मेडिकल कॉलेज के साथ अस्पताल भी बनाया जा सकता है। प्रदेश के चार बड़े शहर भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में कार्डियक केयर सेंटर बनाने में केन्द्र मदद करे। प्रदेश में स्वास्थ्य को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जा रही है।
         केन्द्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि प्रत्येक नागरिक का बेहतर स्वास्थ्य हमारी प्राथमिकता है। मध्यप्रदेश इस दिशा में पहल कर देश के सामने मॉडल प्रस्तुत करे। स्वास्थ्य को शिक्षा के साथ जोड़कर प्रिवेन्ट्वि केयर पर ध्यान दे। देश में चिकित्सकों की कमी को देखते हुए चिकित्सा शिक्षा में व्यापक सुधार की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सुविधाओं के क्षेत्र में किसी भी प्रदेश के साथ भेदभाव नहीं किया जायेगा। चिकित्सा शिक्षा में गुणवत्ता से किसी तरह का समझौता नहीं किया जाये। बेहतर स्वास्थ्य का संदेश लोगों तक पहुँचाया जाये। स्वास्थ्य को बड़े आंदोलन के रूप में चलायें।
      बैठक में मुख्य सचिव अंटोनी डि सा, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य प्रवीर कृष्ण, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा अजय तिर्की, संचालक एन.एच.एम. फैज अहमद किदवई, स्वास्थ्य आयुक्त  पंकज अग्रवाल, मुख्यमंत्री के सचिव विवेक अग्रवाल सहित स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com