ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
एशिया का सबसे बड़ा दलहन अनुसंधान केन्द्र प्रदेश में स्थापित होगा

MPNEWSLIVE :13 अगस्त , 2014 

भोपाल ।। विश्व के ख्यात अंतर्राष्ट्रीय शुष्क क्षेत्रीय अनुसंधान केन्द्र (इकार्डा) द्वारा दलहनी फसलों के शोध और तकनीकी प्रसारण का एशिया का सबसे बड़ा केन्द्र मध्यप्रदेश में स्थापित किया जायेगा। संस्थान ने केन्द्र हेतु चीन के स्थान पर भारत को चयनित किया है। प्रदेश शासन ने इस उपयोगी संस्थान के लिये सीहोर जिले के अमलाहा में 71 हेक्टयर भूमि उपलब्ध करवायी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से इकार्डा लेबनान के महानिदेशक डॉ. मुहम्मद सोहू ने आज यहाँ भेंट कर संस्थान को दिये जा रहे सहयोग के प्रति आभार प्रकट किया।

          मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश देश में दलहन का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य है। देश में अभी भी दलहन उत्पादों का आयात किया जाता है। दलहन उत्पादन में देश को आत्म-निर्भर बनाने के लिये उच्च-स्तरीय अनुसंधान की जरूरत है। अंतर्राष्ट्रीय शुष्क क्षेत्रीय कृषि अनुसंधान केन्द्र (इकार्डा) का प्रदेश में स्वागत करते हुए उन्होंने कहा कि दलहनी फसलों के सुधार, शुष्क खेती के क्षेत्र में नये शोध और तकनीक प्रसारण में संस्थान की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश कृषि क्षेत्र में तेजी से प्रगति करने वाला राज्य है। इस वर्ष कृषि वृद्धि दर 24.99 प्रतिशत रही है। गेहूँ उत्पादन में भी देश का अग्रणी राज्य है। इस लिहाज से इकार्डा मध्यप्रदेश में दलहनी उत्पादन बढ़ाने में भी अपेक्षित सहयोगी होगा।
           इकार्डा महानिदेशक सोहू ने बताया कि यह लेबनान स्थित गैर लाभकारी अंतर्राष्ट्रीय संस्थान है। मध्यप्रदेश में अनुसंधान प्रक्षेत्र स्थापित करने का निर्णय परियोजना स्थल के निकट प्रगतिशील कृषक समुदाय और कृषि विद्यालय होने के कारण किया गया है।
          इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव कृषि  एम.एमउपाध्यायप्रमुख सचिव कृषि डॉ.राजेश राजौरामुख्यमंत्री के सचिव  विवेक अग्रवालउप महानिदेशक इकार्डा डॉ.कोमेल शीडीडउप कुलपति राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय डॉश्री ए.केसिंहनिदेशक भारत सरकार दलहन विकास निदेशालय डॉआर.केतिवारीइकार्डा के समन्वयक दक्षिणी-एशिया डॉसरकारसहायक महानिदेशक आर.सी..आर., डॉ.बी.बीसिंह और डीन  वी.एसगौतम उपस्थित थे।

 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com