ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
नियमों को सरल बनाने के लिये नर्सिंग होम एसोसिएशन सरकार को दे सुझाव

MPNEWSLIVE :24 अगस्त , 2014 

भोपाल ।। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य सरकार लोगों को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सुविधाएँ देने के लिये प्रतिबद्ध है। निजी क्षेत्र के सहयोग से स्वास्थ्य सेवाओं में अप्रत्याशित सुधार लाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि आदर्श स्थिति यह होगी कि प्रदेश के नागरिकों को प्रदेश में ही गुणवत्तापूर्ण विशेषज्ञ सुविधाएँ उपलब्ध हों। उन्होंने कहा कि निजी नर्सिंग होम और अस्पताल रिहायशी क्षेत्रों में खोलने पर कोई बाधा नहीं है लेकिन बायो मेडिकल वेस्ट का संपूर्ण प्रबंधन जरूरी है। चौहान आज यहाँ मध्यप्रदेश नर्सिंग होम एसोसिएशन के 12वें राज्य स्तरीय सम्मेलन के समापन सत्र को संबोधित कर रहे थे। यह सम्मेलन सस्ती और गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाओं के प्रदाय पर विचार के लिये आयोजित किया गया था।

       चौहान ने एसोसिएशन से कहा कि वह एक समिति बनाकर सरकार को एक महीने के अंदर सुझाव दे कि कौन से नियम-कानूनों को जनहित और नर्सिंग होम संचालन की दृष्टि से सरल किया जा सकता है। उन्होंने निजी नर्सिंग होम और अस्पताल संचालकों से आग्रह किया है कि वे चिकित्सकों की नई पीढ़ी को गाँव में सेवाएँ देने के लिये प्रेरित करें और इसके लिये अनुकूल वातावरण बनायें।

        चौहान ने कहा कि निजी स्वास्थ्य संस्थाओं की भागीदारी से शिशु मृत्यु दर और मातृ मृत्यु दरों में तेजी से कमी लाई जा सकती है। इसके अलावा लिंग परीक्षण को हतोत्साहित करने, बेटी बचाओ अभियान आगे बढ़ाने, ममता अभियान जैसे स्वास्थ्य सुरक्षा संबंधी अभियानों में भी प्रभावी भागीदारी हो सकती है। श्री चौहान ने कहा कि डॉक्टरों की कमी को देखते हुए निजी क्षेत्र में मेडिकल कॉलेज खुलना चाहिये लेकिन उन्हें अपनी प्रतिष्ठा बनाये रखना होगा। इसी प्रकार निजी नर्सिंग होम को भी सभी नैतिक मापदण्डों का ईमानदारी से पालन करना होगा। राज्य सरकार निजी नर्सिंग होम और अस्पताल की स्थापना और उनके संचालन में आने वाली बाधाओं को दूर करेगी।

     सांसद आलोक संजर और प्रमुख सचिव स्वास्थ्य  प्रवीर कृष्ण ने भी विचार रखे। एसोसिएशन अध्यक्ष डॉ. एस.एम. होलकर ने सम्मेलन के उद्देश्यों की जानकारी दी। प्रदेश भर से आये नर्सिंग और निजी अस्पताल के संचालक सम्मेलन में उपस्थित थे। इस अवसर पर प्रदूषण निवारण मंडल के अध्यक्ष डॉ. एन.पी. शुक्ला, एसोसिएशन के सचिव डॉ. विनोद जैन एवं पदाधिकारी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने विशेष स्मारिका का विमोचन किया। एसोसिएशन के सचिव डॉ. श्रीकांत जैन ने आभार व्यक्त किया। एसोसिएशन की ओर से अतिथियों को स्मृति-चिन्ह भेंट किये गये।


 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com