ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
परिवार बेटी के जन्म पर गर्व करे लाड़ली लक्ष्मी योजना की यही मंशा

MPNEWSLIVE :5 सितम्बर  , 2014 

भोपाल ।। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि बेटी का जन्म परिवार के लिये गर्व और सम्मान का विषय है। लाड़ली लक्ष्मी योजना की यही मंशा है। इसी भाव के साथ योजना का संचालन किया जाय। चौहान ने यह बात आज लाड़ली लक्ष्मी योजना संबंधी बैठक में कहीं। बैठक में महिला-बाल विकास मंत्री माया सिंह और मुख्य सचिव  ंटोनी डिसा भी मौजूद थे।

सुधरने लगा लिंगानुपात

प्रदेश में बेटियों के प्रति समाज का सकारात्मक रूझान बढ़ा है। वार्षिक स्वास्थ्य सर्वेक्षण में एक हजार बालक पर बालिकाओं की जन्म संख्या में वृद्धि की जानकारी मिली है। वर्ष 2010-11 में बालिका लिंगानुपात 911 था जो वर्ष2012-13 में 916 हो गया है।

       मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि यह योजना सामाजिक बदलाव का माध्यम है। योजना संचालन का स्वरूप ऐसा हो कि उससे लाभान्वित होने के लिये हितग्राही को भाग-दौड़ नहीं करनी पड़े। उसे सरलता और सम्मान के साथ योजना के लाभ प्राप्त हों।
       बैठक में योजना को और अधिक प्रभावी बनाने के संबंध में जानकारी दी गई। बताया गया कि योजना में अब राज्य शासन द्वारा राष्ट्रीय बचत-पत्र के स्थान पर प्रमाण-पत्र दिया जाएगा। लाड़ली को एक लाख की राशि का भुगतान अब 21 वर्ष की आयु में किया जाएगा। भुगतान ई-पेमेंट द्वारा होगा। विभाग द्वारा प्रत्येक लाड़ली लक्ष्मी के स्वास्थ्यशैक्षणिक गतिविधियों की भी निगरानी की जायेगी। बताया गया कि योजना के प्रभावों के संबंध में प्रशासनिक अकादमी के अध्ययन में यह निष्कर्ष निकला है कि 77 प्रतिशत परिवार ने योजना राशि का कन्या शिक्षा अथवा परिवार की बेहतरी के कार्यों में निवेश किया है। प्रदेश के पूर्वी और उत्तरी इलाकों में कन्या विवाह में राशि का उपयोग किया गया है। अध्ययन में बताया गया है कि समाज की सामाजिक सोच में उल्लेखनीय परिवर्तन आया है। अस्सी प्रतिशत से अधिक लोग बेटियों की आवश्यकता और उनके महत्व के प्रति सजग हुए हैं।
   बैठक में प्रमुख सचिव महिला-बाल विकास जे.एन. कंसोटियाआयुक्त महिला सशक्तिकरण कल्पना श्रीवास्तवमुख्यमंत्री के सचिव विवेक अग्रवाल और विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी कोमलसिंह भी उपस्थित थे।

 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com