ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
संवेदना और सेवा के भाव से बनती है जनहित की योजनाएँ - मुख्यमंत्री श्री चौहान

MPNEWSLIVE :30 सितम्बर , 2014 

भोपाल ।। मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि संवेदना और सेवा का भाव होता है तब जनहित की योजनाएँ बनती हैं। सबसे ज्यादा सेवा की जरूरत बुजुर्गों को होती है। इसी मानवीय दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए केन्द्र सरकार ने न्यूतनम पेंशन योजना लागू की है, जिसमें कामगारों की न्यूनतम पेंशन 1000 रुपये की गई है। मुख्यमंत्री चौहान आज यहाँ पेंशनधारकों के सम्मान समारोह में संबोधित कर रहे थे। केन्द्रीय ऊर्जा एवं कोयला राज्य मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कहा कि मध्यप्रदेश विकास के क्षेत्र में एक आदर्श राज्य के रूप में उभरा है। मध्यप्रदेश में संतुलित विकास हो रहा है।

     मुख्यमंत्री  चौहान ने कहा कि स्वर्गीय  दीनदयाल उपाध्याय ने कहा है दीन-दुखियों की सेवा ही ईश्वर की सेवा है। केन्द्र सरकार ने प्रधानमंत्री जन-धन योजना जैसी योजना लागू की है जो गरीबों के लिये वरदान बनेगी। आज से लागू की गई न्यूनतम पेंशन योजना भी मानवीय दृष्टिकोण की मिसाल है। उन्होंने कहा कि संसाधनों पर सबका हक है। मध्यप्रदेश में गरीबों के कल्याण के लिये कई योजनाएँ लागू की गई हैं। गरीबों को एक रुपया किलो गेहूँ और एक रूपया किलो चावल, शासकीय अस्पतालों में नि:शुल्क दवाई और जाँच की व्यवस्था की गई है। बंद मिलों के मजदूरों को भी एक रुपया किलो गेहूँ और एक रुपया किलो चावल दिया जायेगा। मध्यप्रदेश में 25 लाख मजदूर का पंजीयन किया गया है जिन्हें सामाजिक सुरक्षा का लाभ दिया जा रहा है। मध्यप्रदेश में बुजुर्गों के लिये मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन जैसी योजना लागू की गई है, जिसमें बुजुर्गों को तीर्थ-दर्शन करवाया जाता है। प्रदेश में उद्योग और रोजगार बढ़ाने के लिये ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट आयोजित की जा रही है, जिसमें 26 देश के प्रतिनिधि-मंडल शामिल होंगे। मध्यप्रदेश में निवेश आने से रोजगार बढ़ेंगे और मध्यप्रदेश समृद्ध होगा।
    केन्द्रीय राज्य मंत्री गोयल ने कहा कि आज देश ने जो प्रगति की है उसमें पेंशनरों का महत्वपूर्ण योगदान है। आज ऐतिहासिक दिन है केन्द्र सरकार ने वृद्ध पेंशनधारकों के हित में बढ़ा कदम उठाते हुए न्यूनतम पेंशन योजना लागू की है। इससे पूरे देश में 32 लाख परिवार लाभान्वित होंगे। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भारत को 21वीं सदी में शक्तिशाली देश के रूप में आगे लाना चाहते हैं, यह उस दिशा में बड़ा कदम है। मध्यप्रदेश ने लाड़ली लक्ष्मी जैसी अभिनव योजना बनाई है जिसे देश के अन्‍य राज्य ने भी लागू किया है। मध्यप्रदेश में कृषि, उद्योग, सूचना प्रौद्योगिकी और सेवा क्षेत्र में तेजी से विकास हो रहा है। न्यूनतम पेंशन योजना का लाभ मध्यप्रदेश के एक लाख परिवार को मिलेगा। मेक इन इंडिया से भारत में उद्योग और रोजगार बढ़ेगा। मध्यप्रदेश और केन्द्र सरकार स्वर्गीय दीनदयाल उपाध्याय जी के सपने को साकार कर रही है।

 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com