ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
समावेशी विकास के लिये जरूरी है सूक्ष्म एवं लघु उद्योगों का विकास

MPNEWSLIVE : 08 अक्टूबर, 2014 

 भोपाल ।। समावेशी विकास के लिये जरूरी है सूक्ष्म एवं लघु उद्योगों का विकास। चेयरमेन एमसीएक्स  सत्यानंद मिश्रा ने यह यह बात ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में 'क्रेडिट फ्लो टू एमएसएमईसेक्टोरल सेमीनार में कही। उन्होंने कहा कि सूक्ष्म एवं लघु उद्योगों के विकास के लिये जरूरी है कि पूरे प्रदेश में माइक्रो फायनेंस इंस्टीटयूट (एमएफआईखुलने चाहिए।

मिश्रा ने कहा कि प्रदेश सरकार और बेंक क्रेडिट फ्लो करें तो सूक्ष्मलघु एवं मध्यम उद्योगों के विकास में सहूलियत होगी। उन्होंने स्किल डेवलपमेंट पर भी जोर दिया। सीएमडी सेन्ट्रल बेंक ऑफ इंडिया श्री राजीव ऋषि ने कहा कि 10 लाख तक के लोन में को-लेटरल की जरूरत नहीं है। उन्होंने बताया कि देश में लाख 52 हजार करोड़ रुपये का ऋण एमएसएमई को दिया गया है।  ऋषि ने मुख्यमंत्री द्वारा वेंचर फण्ड में 100 करोड़ रुपये देने की घोषणा की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि इससे एमएसएमई के विकास में सहायता मिलेगी।
    प्रेसीडेंट एमएसएमई चेम्बर चन्द्रकान्त सलुंखे ने एमएसएमई को प्रभावित करने वाले कारकों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि औद्योगिक विकास में प्रतिशत का योगदान एमएसएमई का है। सलुंखे ने बताया कि बेंकों को को-लेटरल फ्री लोन के बारे में जानकारी नहीं है जिससे उन्हें लोन लेने में कठिनाई होती है।

     डायरेक्टर जीसी एण्ड पीएसआरआई इटली  एलबर्टो केनपरी ने इटली में लघु उद्योगों के लिये ऋण प्रक्रिया के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इटली में एमएसएमई के लिये यूरोपियन यूनियन द्वारा भी लोन दिया जाता है।  ेनपरी ने कहा कि भारत बहुत बड़ा बाजार है। यहाँ एमएसएमई की असीम संभावनाएँ हैं।

    एमडी एल एण्ड टी फायनेंस दीनानाथ दुभाषी ने कम्पनी के कार्यों के बारे में बताया। उन्होंने एमएसएमई के लिये लोन लेने में आने वाली कठिनाइयों तथा नॉन बेंकिंग फायनेंस के बारे में जानकारी दी। सचिव वित्त मनीष रस्तोगी ने प्रदेश में एमएसएमई के लिये दी जा रही सुविधाओं के बारे में जानकारी दी। विशेषज्ञों ने उद्यमियों की शंकाओं का समाधान भी किया।

 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com