ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मध्यप्रदेश के वित्तीय समावेशन मॉडल की सराहना की

MPNEWSLIVE : 7 दिसम्बर, 2014 

भोपाल ।। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने मध्यप्रदेश में अधिकतम लोगों को बेंकिंग सहायता उपलब्ध करवाने के लिए वित्तीय समावेशन के 'समृद्धि' मॉडल को सफलता से लागू किए जाने की तारीफ की। उन्होंने इसे अन्य राज्यों के लिए अनुकरणीय बताया। श्री मोदी ने मध्यप्रदेश में प्रधानमंत्री जन-धन योजना का लक्ष्य प्राप्त करने के लिए मध्यप्रदेश को बधाई भी दी। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज नई दिल्ली में योजना आयोग के नये स्वरूप पर प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा बुलाई गई मुख्यमंत्रियों की बैठक में मध्यप्रदेश के वित्तीय समावेशन मॉडल 'समृद्धि' पर प्रस्तुतीकरण दिया।

मुख्यमंत्री ने प्रस्तुतीकरण में बताया कि मध्यप्रदेश में वर्ष 2011-12 में जब 'समृद्धि' मॉडल लागू किया गया। उस वक्त 14 हजार 767 गाँव ऐसे थे जिनकी परिधि के पाँच किलोमीटर तक किसी व्यावसायिक या सहकारी बेंक की शाखा नहीं थी। साथ ही कोई डाकघर भी नहीं था। राज्य सरकार ने इन क्षेत्रों की शेडो एरिया के रूप में पहचान की। वहाँ वित्तीय समावेशन का काम शुरू कर इसे 'समृद्धि' मॉडल नाम दिया गया। इस मॉडल में राज्य सरकार ने अल्ट्रा स्माल बेंक/ग्राहक सेवा केन्द्र स्थापित करने के लिए पंचायत भवनों में 100 वर्ग फीट तक का स्थान उपलब्ध करवाया। यह मॉडल डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के क्रियान्वयन के लिए अपेक्षित सभी प्रमुख बिन्दुओं पर केन्द्रित है।
मुख्यमंत्री ने बताया कि 'समृद्धि' मॉडल तीन प्रमुख स्तंभ पर आधारित है। इनमें समग्र पोर्टल, अल्ट्रा स्माल बेंक सेवाएँ और इलेक्ट्रॉनिक निधि प्रबंधन द्वारा बेंकों में पैसा सीधा पहुँचना शामिल है। प्रदेश में अभी तक 2400 अल्ट्रा स्माल शाखाएँ खोली गई हैं। इतने ही बेंक-मित्र बनाये गये हैं। इसमें कुल 77 लाख खाते खोले गये हैं। नये खातों में 91 लाख ट्रांजेक्शन में 1023 करोड़ रुपये का लेन-देन हुआ है।

मध्यप्रदेश द्वारा जन-धन योजना के लक्ष्य की प्राप्ति

मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में प्रधानमंत्री जन-धन योजना का लक्ष्य प्राप्त कर लिया गया है। इसके लिए पहले दिन से ही अधिकारियों और बेंकरों के साथ मिलकर प्रयास शुरू किए गए। राज्य-स्तरीय बेंकर्स समिति में अधिकारियों और बेंकरों का मनोबल बढ़ाकर, उन्हें योजना का लक्ष्य प्राप्त करने के लिए प्रेरित किया गया। जिला कलेक्टरों और लीड बेंक मेनेजरों ने भी इस कार्य में बहुत निष्ठा से कार्य किया।
मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री जन-धन योजना में कुल 1 करोड़ 53 लाख 86 हजार 853 परिवार का सर्वे किया गया। इनमें से 1 करोड़ 4 लाख 39 हजार 216 परिवार के पास पहले से ही खाते थे। शेष 49 लाख 47 हजार 637 परिवार के खाते खोलने के लिए अभियान चलाया गया। अभियान में 58 लाख 64 हजार 452 खाते खोले गये।

 


 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com