ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
लोकसभा अध्यक्ष के तेवर देखकर सक्रिय हुआ रेल मंत्रालय!

MPNEWSLIVE : 24 दिसम्बर, 2014 

भोपाल ।। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन का कड़ा रूख सामने आने के बाद मध्यप्रदेश की लंबित रेल परियोजनाओं को गति मिलने की संभावना बढ़ी है। इनकी समीक्षा तथा जरूरी कदम उठाने के संबंध में विचार करने के लिए केंद्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु संभवत: एक जनवरी को इंदौर पहुंच रहे हैं। इस दौरान वे इंदौर क्षेत्र को कुछ नई सौगातें भी देंगे।

उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक रेल मंत्रालय ने मप्र की लंबित परियोजनाओं को सिरे चढ़ाने की कवायद नए सिरे से शुरू की है। वजह यह है कि इंदौर से सांसद व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने काफी समय से इंदौर समेत समूचे मप्र में रेल सुविधाओं के विस्तार के लिए जोर दे रही हैं।
इसी कड़ी में बीती रात यहां महाजन ने प्रभु व आधा दर्जन सांसदों की बैठक बुलाई थी। चौबीस घंटे में ही इसका असर यह हुुआ कि रेल मंत्री का आगामी एक जनवरी को इंदौर जाने का कार्यक्रम बनने लगा है।
सूत्रों का कहना है कि वे इंदौर से जम्मूतवी के लिए नई रेल को हरी झंडी दिखाएंगे, एक कांप्लेक्स का लोकार्पण करेंगे तथा प्रस्तावित परियोजनाओं समेत बरसों से लंबित इंदौर-मनमाड़ के रेल लाइन के संबंध में वरिष्ठ रेल अधिकारियों व मप्र सरकार के अफसरों से चर्चा करेंगे। परियोजना के लिए निजी भागीदार की तलाश और स्पेशल परपज व्हीकल(एसपीवी)का गठन इस चर्चा का प्रमुख बिंदु होगा।
मप्र को निजी भागीदार तलाशने की हिदायत: सूत्र बताते हैं कि रेल मंत्रालय ने मप्र सरकार को हाल में साफ कर दिया है कि अब पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप मॉडल पर ही सूबे की बड़ी रेल परियोजनाओं का काम हाथ में लिया जा सकेगा। हालांकि इसमें आ रही व्यवहारिक दिक्कतों व ताई के दबाव के चलते रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने महाजन को आश्वस्त किया है कि इंदौर-मनमाड़ रेल लाइन के लिए रेलवे ही ज्यादा राशि लगाएगा।
एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक प्रभु का यह दौरा तभी रद्द हो सकता है, जब एक जनवरी तक इंदौर नगर निगम चुनाव के लिए आचार संहिता प्रभावी हो जाए। यदि ऐसा हुआ तो समीक्षा बैठक दिल्ली में होगी।

 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com