ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
प्रवासी भारतीय सम्मेलन में छाया मध्‍यप्रदेश, शिवराज का न्‍यौता

MPNEWSLIVE : 9 जनवरी, 2015

भोपाल ।। गुजरात के गांधी नगर में आयोजित प्रवासी भारतीय सम्मेलन में मध्‍यप्रदेश छाया रहा। इसमें देश-विदेश में निवासरत भारतवासियों को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्यप्रदेश आने का आत्मीय न्यौता दिया है।

उन्होंने कहा है कि निवेश करें या नहीं, मध्यप्रदेश जरूर आयें। महात्मा मंदिर में प्रवासी भारतीय सम्मेलन के समापन कार्यक्रम में केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के साथ मध्यप्रदेश सहित नौ राज्य के मुख्यमंत्री मौजूद थे।
चौहान ने कहा कि हमारी औद्योगिक नीति निवेशक मित्र है। यहां सातों दिन 24 घंटे बिजली रहती है। पहले यह चमत्कार गुजरात ने किया था। अब मध्यप्रदेश के गांवों में भी बिजली नहीं जाती। मध्यप्रदेश शांति का टापू है। मध्यप्रदेश में जो भी आता है यहां का हो जाता है। यहां सब आपला मानुष है।
उन्‍होंने कहा कि मध्यप्रदेश पहले डाकुओं के लिये कुख्यात था अब डाकू या तो ऊपर हैं या जेल में। श्री चौहान ने कहा मध्यप्रदेश में कानून व्यवस्था की बेहतर स्थिति है। औद्योगिक शांति है। निवेशकों की सुविधा के लिये हमने सिंगल विंडो नहीं सिंगल डोर पालिसी बनायी है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि एन. आर. आई. के लिये मध्यप्रदेश में एक नया प्रकोष्ठ बनाया जायेगा। हर प्रोजेक्ट के लिये अलग अधिकारी नियुक्त होगा। प्रधानमंत्री ने 'मेक इन इंडिया' का नारा दिया है। इसे सफल बनाने के लिये मुख्यमंत्री ने 'मेक इन मध्यप्रदेश' का आव्हान करते हुए निवेशकों से कहा कि वे मध्यप्रदेश आयें, उन्हें यहां सभी आवश्यक सुविधाएँ दी जायेंगी।
 चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश पहले बीमारू राज्य कहा जाता था। अब मध्यप्रदेश की विकास दर 11.08 प्रतिशत है जो देश में सर्वाधिक है। पिछले 10 वर्ष से लगातार प्रदेश की विकास दर डबल डिजिट में है। सिंचाई का रकबा बढ़कर 27.5 लाख हेक्टेयर हो गया है।
 उन्होंने कहा कि कृषि में 24.99 प्रतिशत विकास दर के साथ मध्यप्रदेश देश ही नहीं दुनिया में सबसे आगे है। प्रदेश गेहूं उत्पादन में पिछले वर्ष हरियाणा से आगे था। इस वर्ष पंजाब से भी आगे होगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश को हर क्षेत्र में आगे बढ़ाने की कोशिश की जा रही है। प्रदेश की औद्योगिक विकास दर भी अच्छी है पर इससे अभी संतोष नहीं।

 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com