ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
ऊर्जा क्षेत्र में श्रेष्ठ कार्यों के लिये मध्यप्रदेश को मिला अवाॅर्ड

MPNEWSLIVE : 10 जनवरी, 2015

भोपाल ।। ऊर्जा क्षेत्र में श्रेष्ठ कार्यों के लिए ऊर्जा विषय पर हुए राष्ट्रीय सम्मेलन ''पॉवर फोकस'' में केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल को अवॉर्ड प्रदान कर सम्मानित किया। श्री गोयल ने ऊर्जा क्षेत्र की हस्तियों की मौजूदगी में मध्यप्रदेश द्वारा ऊर्जा और गैर-परम्परागत ऊर्जा के क्षेत्र में अपनाये गये नवाचार, विद्युत उत्पादन वृद्धि, वितरण प्रणाली में सुधार, घरेलू और कृषि क्षेत्र में विद्युत वितरण के लिये पृथक-पृथक फीडर की प्रक्रिया को अमली जामा देने जैसे अनुकरणीय प्रयासों की मुक्त कण्ठ से प्रशंसा की।

पेनल डिस्कशन में ऊर्जा मंत्री राजेंद्र शुक्ल ने विगत 12 वर्ष में विद्युत उत्पादन एवं वितरण के क्षेत्र में किये गये समर्पित प्रयासों का सिलसिलेवार उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 51 जिले में अटल ज्योति अभियान के अंतर्गत गैर कृषि उपभोक्ताओं को 24 घण्टे और कृषि प्रयोजन के लिए 10 घण्टे गुणवत्तापूर्ण विद्युत आपूर्ति आश्वस्त की गई।
शुक्ल ने विद्युत उपभोक्ताओं की संख्या में निरन्तर हो रही वृद्धि का उल्लेख करते हुए कहा कि वर्ष 2003 में जहाँ 63.96 लाख उपभोक्ता थे वहीं वर्तमान में यह संख्या एक करोड़ 9 लाख हो चुकी है। इसी प्रकार राजस्व में भी 312 प्रतिशत की वृद्धि हुई। उन्होंने कहा कि ट्रांसमिशन क्षति को 7.93 से कम करते हुए 3 प्रतिशत पर लाये हैं। इसी प्रकार ए.टी. एण्ड सी क्षति को भी लगभग आधा किया जा सका है। विद्युत कम्पनियों में भर्ती प्रतिबंध को समाप्त करते हुए नई भर्तियां की गई। प्रदेश के तीन शहर ग्वालियर, सागर और उज्जैन में बतौर प्रयोग प्राइवेट सेक्टर को भी जिम्मेवारी सौंपी गई, जिसके अच्छे परिणाम आ रहे हैं।
मध्यप्रदेश में विद्युत परिदृश्य में आये सुधारों का परिणाम है कि कृषि क्षेत्र को सहारा मिला और प्रदेश को निरन्तर तीन वर्ष से कृषि उत्पाद वृद्धि में प्रतिमान स्थापित करने पर कृषि कर्मण अवार्ड मिले। श्री शुक्ल ने कहा कि मध्यप्रदेश में एशिया के सबसे बड़े सौर ऊर्जा संयंत्र की भी स्थापना की जा रही है। उन्होंने आगे कहा कि पॉवर विकास की कुन्जी है और मध्यप्रदेश ऊर्जा क्षेत्र में उद्यमियों और निवेशकों को आमंत्रित करता है।

 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com