ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
4 हजार करोड़ का बिजली बिल बाकी, होगी संपत्तियां कुर्क

MPNEWSLIVE : 08 फरवरी, 2015

भोपाल ।। वित्तीय संकट से जूझ रही एमपी पावर मैनेजमेंट कंपनी बिल वसूली को लेकर सख्ती करने जा रही है। तीनों विद्युत वितरण कंपनियों से कहा गया है कि अरसे से भुगतान न करने वाले उपभोक्ताओं की संपत्ति कुर्क करने की कार्रवाई करें। मध्य, पूर्व और पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण़ कंपनियां चालू वित्तीय वर्ष 2014-15 में बिलों की बकाया राशि 4042 करोड़ रुपए नहीं वसूल सकीं हैं, जबकि लक्ष्य मार्च तक पूरा करना है।

बन रही डिफाल्टरों की सूची
बड़े बकायादारों से रकम की वसूली के लिए पावर मैनेजमेंट कंपनी पर वित्तीय वर्ष समाप्ति का दबाव है। इसके लिए वितरण कंपनियों को ऐसे उपभोक्ताओं को चिन्हित करने कहा गया है जिन्होंने दो साल से बिला जमा नहीं किए हैं।
इनमें से कुछ मामले विद्युत नियामक आयोग में भी लंबित हैं, जिनमें कंपनी और उपभोक्ता के बीच राशि पर विवाद चल रहा है। एमपी पावर मैनेजमेंट कंपनी के एमडी मनु श्रीवास्तव ने बताया कि ऐसे परिवाद को छोड़कर शेष प्रकरणों में सख्ती के निर्देश दिए गए हैं।
कंपनी रकम सर्वाधिक बकाया
मध्य 2378 ग्वालियर-1471
पूर्व 1322 जबलपुर-200
पश्चिम 342 उज्जैन-100
राशि करोड़ में
 

 

 

 

 

 

 


 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com