ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
मध्‍यप्रदेश विधानसभा में पहली बार राज्यपाल का विरोध

MPNEWSLIVE : 19 फरवरी, 2015

भोपाल ।। मध्यप्रदेश विधानसभा के इतिहास में पहली बार राज्यपाल को विपक्ष के तीखे विरोध का सामना करना पड़ा। बुधवार को बजट सत्र की शुरुआत में विपक्षी दल कांग्रेस ने राज्यपाल के अभिभाषण को सुनने से इंकार कर दिया। विपक्ष ने अभिभाषण शुरू होते राज्यपाल को व्यापमं घोटाले का आरोपी कहा, इस्तीफे की मांग भी रखी और वाकआउट कर गए। शोरशराबे के बीच राज्यपाल ने भी अभिभाषण का पहला और अंतिम पैरा ही पढ़ा और चले गए।

वहीं, सत्तापक्ष ने विपक्ष के रवैये को शर्मनाक करार देते हुए निंदा की। आसंदी से स्पीकर सीताशरण शर्मा ने सदन में लगाए इन असंसदीय आरोपों पर कोई व्यवस्था नहीं दी, लेकिन बाद में कांग्रेस के सारे आरोप कार्यवाही से विलोपित कर दिए गए। इससे पूर्व इस घटनाक्रम का सीधा प्रसारण भी चैनलों द्वारा कर दिया गया। सदन से निकलकर भी कांग्रेस ने राज्यपाल पर लगाए आरोपों को दोहराया।
विधानसभा के बजट सत्र की शुरुआत में ही कांग्रेस ने राज्यपाल पर हमला करके जता दिया कि वो व्यापमं घोटाले के मुद्दे पर अब पीछे हटने के लिए तैयार नहीं है। जैसे ही राज्यपाल रामनरेश यादव दो सहायकों का सहारा लेकर सदन में आए और अभिभाषण देने के लिए माइक संभाला, मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के सदस्यों ने हंगामा शुरू कर दिया।
नेता प्रतिपक्ष सत्यदेव कटारे, उपनेता बाला बच्चन, दल के सचेतक रामनिवास रावत, मुकेश नायक, जीतू पटवारी, तरूण भनोत सहित अन्य सदस्यों ने राज्यपाल पर आरोप लगाया कि वे व्यापमं घोटाले से जुड़े हैं। मामला भ्रष्टाचार का है। आजादी के बाद ऐसा कभी नहीं हुआ। राज्यपाल और उनके परिजनों पर भी व्यापमं के छींटे हैं मुख्यमंत्री सहित कई मंत्री इसमें फंसे हुए हैं।

 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com