ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
दिग्विजय को बुलाकर पूछताछ करे आयकर विभागः नंदकुमारसिंह चौहान

MPNEWSLIVE : 16 मार्च, 2015

 भोपाल ।। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने मांग की है कि पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को भोपाल के बिल्डर अरुण सहलोत द्वारा करोड़ों रुपए की रिश्वत दिए जाने के मामले में आयकर विभाग नए सिरे से जांच बिठाए। यह प्रकरण रीओपन कर रिश्वत के मामले में समन भेजकर दिग्विजय को पूछताछ के लिए तलब किया जाना चाहिए। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चौहान ने सोमवार सुबह आयकर भवन पहुंचकर प्रभारी चीफ कमिश्नर पीके माथुर को सीबीडीटी चेयरमैन को संबोधित ज्ञापन सौंपा।

इसमें कहा गया है कि आयकर विभाग ने बिल्डर के यहां छापे के दौरान जो 3 डायरियां जब्त की थीं उनमें दिग्विजय को कुल 10 करोड़ रुपए रिश्वत देने का जिक्र है। चौहान ने मांग की है कि आयकर अधिनियम की धारा 148 के तहत यह मामला पुनः खोला जाए और दिग्विजय को समन भेजकर पूछताछ हो। उन्होंने कहा कि विभाग रिश्वत देने वाले से पूछताछ कर चुकी अब रिश्वत लेने वाले की भी जांच की जाए।
छानबीन के बाद इस मामले में जुर्माना सहित ब्लैक मनी पर आयकर की वसूली भी की जाए। प्रदेश अध्यक्ष चौहान के साथ परिवहन मंत्री भूपेन्द्र सिंह एवं राजस्व मंत्री रामपाल सिंह के अलावा महापौर आलोक शर्मा एवं वरिष्ठ भाजपा नेता विनोद गोटिया, अरविंद भदौरिया, रामेश्वर शर्मा, सुरेंद्र नाथ सिंह, विष्णु खत्री, विजेश लूनावत एवं शांतिलाल लोढ़ा सहित अनेक पदाधिकारी मौजूद थे।
अभियोजन की कार्रवाई होआयकर भवन के सामने मीडिया से चर्चा करते हुए चौहान ने आयकर की विभिन्ना धाराओं का उल्लेख करते हुए बताया कि धारा 148, 133(6), 271(1) सी के तहत पेनाल्टी लगाकर टैक्स वसूली की जाए। साथ ही धारा 276-277 के तहत अभियोजन की कार्रवाई भी की जाए। उन्होंने सुझाव दिया कि विभाग चाहे तो यह प्रकरण भ्रष्टाचार के मामले की जांच करने वाले महकमों को भी सौंप सकता है।

 


 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com