ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
रेल मंत्रालय घायलों और मृतकों के परिवार की पूरी मदद करेगा : रेल मंत्री सुरेश प्रभु

MPNEWSLIVE :5 अगस्त, 2015

भोपाल ।। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज यहाँ केन्द्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु और रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा से मुलाकात कर हरदा की रेल दुर्घटना के बाद चल रहे राहत और बचाव कार्यों की जानकारी दी।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री चौहान अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों को निरस्त करते हुये आज मुख्य सचिव अंटोनी डिसा और पुलिस महानिदेशक सुरेन्द्र सिंह के साथ सुबह ही घटना स्थल के लिये रवाना हुए। उन्होंने पानी में भीगते हुए राहत एवं बचाव कार्यों का जायजा लिया। केन्द्रीय रेल मंत्री प्रभु और रेल राज्य मंत्री  मनोज सिन्हा भी घटना-स्थल पर जाने के लिये दिल्ली से भोपाल आये लेकिन दोपहर से ही तेज बारिश और खराब मौसम के चलते हरदा नहीं पहुँच पाये।

मुख्यमंत्री ने  प्रभु को बताया कि जैसे ही दुर्घटना का पता लगा रात में 12.30 तक राज्य के आपदा राहत दल, राष्ट्रीय आपदा राहत टीम के सदस्यों और रेलवे के उच्च अधिकारियों के दल को तत्काल हरदा रवाना किया गया। हरदा, होशंगाबाद और खंडवा के कलेक्टरों को भी तत्काल घटना स्थल पर पहुँचने के लिये कहा गया। चौहान ने कहा कि घटना स्थल के पास के गाँव वालों को खबर कर उन्हें जगाया गया और घायल यात्रियों की मदद के लिये भेजा गया। गाँव वाले तत्काल पहुँच कर बचाव कार्य में लग गये। हरदा, होशंगाबाद और खंडवा से प्रशासनिक अधिकारी रेल इंजन में बैठकर घटना-स्थल पहुँचे। इस बीच आर्मी के बचाव दल को भी सतर्क किया गया।

 चौहान ने बताया कि तत्काल शुरू किये गये प्रयासों से भीषण दुर्घटना के बावजूद कई लोगों को बचा लिया गया।  चौहान ने रेल मंत्री को बताया कि शाम 4.30 बजे तक 28 लोगों की मृत्यु होने की खबर थी। इनमें से 11 की पहचान हो गयी और उनका पोस्ट मार्टम भी हरदा में किया गया। दिवंगत आत्माओं को अंतिम संस्कार के लिये उनके संबंधितों को सौंप दिया जायेगा। जिनकी पहचान नहीं हो पायी उन्हें गांधी मेडिकल कॉलेज, भोपाल लाया जा रहा है। उनकी पहचान होते ही परिजनों को सौंप दिया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह भयंकर बारिश अनपेक्षित और कल्पना से परे थी। रेलवे प्रशासन और स्थानीय प्रशासन के सहयोग और बेहतर समन्वय से लोगों की जान बचाने के लिये हरसंभव प्रयास किये गये।

मुख्यमंत्री  चौहान ने घटना-स्थल के आसपास के गाँवों के लोगों का आभार व्यक्त किया जिन्होंने तत्काल पहुँच कर राहत कार्य में हाथ बँटाया और घायल लोगों की जान बचाई।

केन्द्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि प्रथम दृष्टया अकल्पनीय प्राकृतिक आपदा के कारण यह हादसा हुआ। मानवीय रूप से जो भी संभव था किया गया। उन्होंने मुख्यमंत्री  चौहान और राज्य सरकार के प्रशासनिक तंत्र की सराहना करते हुए कहा कि दुर्घटना होने के तत्काल बाद सक्रिय होने से कई लोगों की जानें बच गयी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रशंसनीय कार्य किया है। उन्होंने दिवंगत आत्माओं को श्रद्धांजलि देते हुए परिजनों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त की। प्रभु ने कहा कि क्षतिग्रस्त रेलवे ट्रेक को जल्दी ही सुधार कर रेल यातायात को बहाल किया जायेगा। रेल मंत्रालय द्वारा हर प्रकार से घायलों को मदद दी जायेगी।

इस औपचारिक बैठक में मुख्य सचिव अंटोनी डिसा और पुलिस महानिदेशक सुरेन्द्र सिंह उपस्थित थे।


 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com