ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
विश्व हिन्दी सम्मेलन हिन्दी के लोकव्यापीकरण का बनेगा माध्यम

MPNEWSLIVE :3 सितम्बर , 2015

भोपाल ।। मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि 10वाँ विश्व हिन्दी सम्मेलन विश्व स्तरीय भव्य आयोजन होगा। इसके लिए केन्द्र और राज्य सरकार मिलकर प्रयास कर रही है। आयोजन संबंधी व्यवस्थाएँ त्रुटि रहित और सुचारू हो, इसके व्यापक स्तर पर प्रयास किये गए हैं। उन्होंने कहा कि आज दुनिया में हिन्दी का महत्व बढ़ रहा है। अन्य देशों के लोग हिन्दी सीख रहे हैं। ऐसे समय में भोपाल में सम्मेलन का आयोजन हिन्दी के लोकव्यापीकरण का माध्यम बनेगा।

मुख्यमंत्री चौहान ने यह बात आज यहाँ विश्व हिन्दी सम्मेलन की तैयारियों के अवलोकन के दौरान कही। उन्होंने आयोजन संबंधी व्यवस्थाओं की समीक्षा की। अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिये। इस अवसर पर प्रबंध समिति के उपाध्यक्ष अनिल माधव दवे, सांसद श्री आलोक संजर, मुख्य सचिव श्री अंटोनी डि सा और महानिदेशक पुलिस सुरेन्द्र सिंह मौजूद थे।
चौहान ने कहा कि भोपाल का सौभाग्य है कि भारत में 32 वर्षों के अंतराल में होने वाले विश्व हिन्दी सम्मेलन की मेजबानी का अवसर उसे मिला है। यह भारत में होने वाला तीसरा सम्मेलन है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सम्मेलन के उदघाटन सत्र को संबोधित करेंगे। विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज पूरे समय सम्मेलन में उपस्थित रहेंगी। केन्द्रीय गृह मंत्रीराजनाथ सिंह भी सम्मेलन में शामिल होंगे। समापन सत्र में प्रसिद्ध कलाकार श्री अमिताभ बच्चन का उदबोधन होगा। उन्होंने बताया कि देश-विदेश से हिन्दी के उदभट विद्वान सम्मेलन में शामिल होंगे। करीब 5 हजार विद्वान उदघाटन एवं समापन सत्र में शामिल रहेंगे। सम्मेलन में विभिन्न राज्यों के राज्यपाल और मुख्यमंत्री भी भाग लेंगे। सम्मेलन अवधि 10 से 12 सितम्बर के दौरान 2 हजार से अधिक विद्वान निरंतर तीन दिन तक हिन्दी के प्रसार के 16 आयामों पर चर्चा करेंगे। हिन्दी में बाल साहित्य, प्रशासनिक कार्य और हिन्दी में प्रौद्योगिकी विषयों का शिक्षण जैसे महत्वपूर्ण विषयों के समानांतर सत्र आयोजित होंगे। उन्होंने कहा कि सम्मेलन का विचार मंथन हिन्दी के विकास के व्यावहारिक अवरोधों को दूर करने में सहायक  प्रयासों का मार्ग प्रशस्त करेगा।

 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com