ताज़ा समाचार   उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा एक्यूप्रेशर पार्क के विकास कार्यों का भूमि-पूजन                युवा बढ़े सपने देखें और समृद्ध देश के निर्माण में सहयोग करें                ग्वालियर में भी चलेगी मेट्रो..                रबी सीजन में ट्रांसफार्मर प्रबंधन पर विशेष जोर                अनुसूचित जाति विद्यार्थियों के छात्रावासों में 10 हजार सीट की वृद्धि                श्रम कानूनों को सरल बनाने मंत्रि-परिषद् द्वारा बड़े संशोधनों को मंजूरी                उद्योग संवर्धन नीति-2014 का अनुमोदन                प्रदेश के 212 विकासखण्ड में द्वार-प्रदाय योजना                6 दिसंबर 2014 को सभी स्तर के न्यायालय में नेशनल एवं मेगा लोक अदालत                मध्यप्रदेश दिवस समारोह में "स्वच्छ मध्यप्रदेश" होगी मुख्य थीम                    
शहरी गरीबों को योजनाओं का लाभ दिलाने के लिये 14 अप्रैल से विशेष अभियान चलायें -शिवराज सिंह चौहान

MPNEWSLIVE :20 जनवरी,2016
भोपाल ।।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि शहरी गरीबों को विभिन्न हितग्राहीमूलक योजनाओं का लाभ दिलाने के लिये डॉ. भीमराव अम्बेडकर की 125वीं जयंती एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 100वीं जयंती के अवसर पर 14 अप्रैल से 25 सितम्बर तक अभियान चलायें। इसमें हितग्राही मूलक योजनाओं, भवन अनुमति, विभिन्न पेंशन स्वीकृति, नामांतरण एवं आवास स्वीकृति आदि योजनाओं और नगरीय विकास की विभिन्न सुविधाओं का शहरी गरीबों को लाभ दिलाया जायेगा। मुख्यमंत्री चौहान आज यहाँ नगरीय विकास एवं पर्यावरण विभाग की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में नगरीय प्रशासन एवं विकास राज्य मंत्री लालसिंह आर्य और मुख्य सचिव अंटोनी डिसा भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नगरीय निकायों द्वारा प्रदाय की जाने वाली सेवाएँ और सुविधाएँ लोगों को आसानी से मिले ऐसी व्यवस्था बनाई जाये। उन्होंने कहा कि अधोसंरचना संबंधी कार्य समय-सीमा में और गुणवत्तापूर्ण हों। शहरी लोक परिवहन के लिये बेहतर व्यवस्था उपलब्ध करवाई जाये। बड़े शहरों में सड़कों पर वाहनों की संख्या कम करने की योजना बनायें। मुख्यमंत्री ने कहा कि सबके लिये आवास योजना में गरीबों के लिये बनाये जाने वाले आवासों में मध्यप्रदेश को आदर्श राज्य बनायें। अमृत योजना के क्रियान्वयन में प्रदेश देश में अग्रणी बनें। प्रदेश के छोटे शहरों को भी स्मार्ट सिटी की अवधारणा पर विकसित करें। शहरों में साफ-सफाई की बेहतर व्यवस्था उपलब्ध करवायें। उन्होंने मुख्यमंत्री शहरी पेयजल योजना और मुख्यमंत्री अधोसंरचना विकास योजना के कार्यों को समय-सीमा में पूरा करवाने को कहा। राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन में गरीब हितग्राहियों को रोजगार उपलब्ध करवाने वाला प्रशिक्षण दिया जाये। इसके लिये प्रत्येक शहर की आवश्यकता के अनुरूप व्यवसाय प्रशिक्षण तय करें। अवैध कॉलोनियों को वैध करने की प्रक्रिया प्राथमिकता से पूरी करें।

बैठक में बताया गया कि अमृत मिशन में प्रदेश के 34 शहर को शामिल किया गया है। इनमें पेयजल, सीवरेज मेनेजमेंट, वर्षा जल निकासी, शहरी लोक परिवहन और हरित क्षेत्र विकास के कार्य करवाये जायेंगे। इसके लिये करीब 8,279 करोड़ रूपये की योजना बनाई गई है। प्रदेश में अगले तीन साल में शहरी गरीबों के लिये 6 लाख आवास बनाये जायेंगे। स्मार्ट सिटी के लिये केन्द्र द्वारा प्रदेश के सात शहर का चयन किया गया है। प्रदेश के प्रत्येक नगरीय निकाय में वर्ष 2016 तक कचरा प्रबंधन की आधुनिक व्यवस्था की जायेगी। अमृत मिशन में प्रदेश के 20 शहर में लोक परिवहन व्यवस्था की जायेगी। भोपाल और इंदौर की मेट्रो परियोजना की डीपीआर तैयार की जा चुकी है। प्रदेश के 14 नगर निगम में ऑटोमेटेड बिल्डिंग प्लान अप्रूवल सिस्टम क्रियान्वित किया गया है। शहरों की लीज की नवीनीकरण की नई नीति बनाई जा रही है।

बैठक में प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं पर्यावरण के मलय श्रीवास्तव, कमिश्नर नगरीय विकास और पर्यावरण  िवेक अग्रवाल, मध्यप्रदेश गृह निर्माण मंडल के प्रबंध संचालक श्री नीतेश व्यास, एप्को के प्रबंध संचालक अजातशत्रु, नगर एवं ग्राम निवेश आयुक्त संदीप यादव सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

 


 
बड़ी खबरें (Breaking News)
आगे पढें...
 
एम. पी. राग ब्लॉग
Rajesh Dubey
ब्लॉग के लिए यहां क्लिक करें
 
फोटो गेलरी
More
 
वीडियो गेलरी
More
 
राशिफल
 Aries / मेष राशि
 
Opinion Poll
Q.
Yes No Don't Say
Previous Poll
Q.
Yes :  |  No :  |  Don't Say :
 
Advertisment


 
 
you can ad here ......
 
संपर्क करें      मुख्य सवाल जवाब      आपके सुझाव      संस्थान    
Copyright © 2013-14 www.mpnewslive.com